Sunday, February 28, 2010

होली पर आइये करें कुछ ऐसे उपाय-------एक गीत अपने पाठकों के नाम ....



होली पर आइये करें कुछ ऐसे उपाय..........

होली पर आइये करें-
कुछ ऐसे उपाय!
कि बन जाएँ हम कान्हा की ,
बांसुरी के पर्याय !!
एक-दम सहज /अनबूझे /
खुद को खोजें ,फिर खुदा को
और फिर खुद मैं खुदा को
दीन-दुखियों के बन जाएँ सहाय
कि बन जाएँ हम कान्हा की ,
बांसुरी के पर्याय !!

पिघल जाएँ /झुक जाएँ
नंदी से मदमस्त बन जाएँ
शांत हो मन हमारा
साथ बिताये हर पल में
सदियों का हो सहारा
क्यों करें हमेशा ही हाय-हाय

कि बन जाएँ हम कान्हा की ,
बांसुरी के पर्याय !!

कूंची की माफिक
सीखें -
सहेजने/फैलाने की कला
सो जहाँ हो जरूरी रंगों का विस्तार वहां कर जाओ
फ़िज़ूल और बर्बादी को सहेजो
जरूरत मंदों में उसे बाँट जाओ
विष पीकर बोलो नमो शिवाय

कि बन जाएँ हम कान्हा की ,
बांसुरी के पर्याय !!







3 comments:

श्यामल सुमन said...

होली तो अब सामने खेलेंगे सब रंग।
मँहगाई ऐसी बढ़ी फीका हुआ उमंग।।

होली की अनेकानेक शुभकामनाएं।

सादर
श्यामल सुमन
09955373288
www.manoramsuman.blogspot.com

MUMBAI TIGER मुम्बई टाईगर said...

जब कोई बात बिगड़ जाए
जब कोई मुश्किल पड़ जाए तो
तो होठ घुमा सिटी बजा सिटी बजा के
बोल भैया "आल इज वेल"
हेपी होली .
जीवन में खुशिया लाती है होली
दिल से दिल मिलाती है होली
♥ ♥ ♥ ♥
आभार/ मगल भावनाऐ

महावीर

हे! प्रभु यह तेरापन्थ
मुम्बई-टाईगर

ब्लॉग चर्चा मुन्ना भाई की
द फोटू गैलेरी
महाप्रेम
माई ब्लोग
SELECTION & COLLECTION

महेन्द्र मिश्र said...

रंगोत्सव पर्व की अनेको हार्दिक शुभकामनाये ...